सटा किंग क्या है ? Sata King

Sata King

दोस्तों आज हम बात करने वाले वाले हैं कि सटा किंग क्या है, सटा किंग 786, सटा मटा मटका, सटा किग रिजलट 2022, सटा किंग दिसावर 2022 इन सभी विषयों पर. इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें.

आज के समय में हर कोई जल्द से जल्द अमीर बनने की ख्वाहिश रखता है। ऐसे में कई बार लोग शॉर्टकट या गलत संगत में भी पड़ जाते हैं, जिससे वो फिर बाहर वापस नहीं आ पाते है। ऐसे ही एक पैसे कमाने की लत या नशा है, जिसे सटा कहते हैं, कईं लोग इसे सटा किंग कहते है और कईं  सट्टा मटका (सटा मटा मटका) का जुआ खेल कहते हैं । 

दिखने में यह केवल यह एक साधारण गेम ही दिखती हो लेकिन असल में किंग ऑफ सट्टा, सटा किंग या सट्टा मटका एक लीगल गेम नही है, जिससे पैसे कमाने के लिए काफी लोग अपने पैसे खर्च कर देते है या यूँ कहें कि बर्बाद कर लेते हैं।

सट्टा मटका (सटा किंग 786) का खेल भारत में काफी प्रसिद्ध बन गया है। यह खेल देश के साथ साथ अब विदेश में भी खेला जाता है। इंडियन सट्टा मटका काफी लोकप्रिय खेल बन गया है। समय के बदलाव के साथ आज के समय में इसे ऑनलाइन खेला जाना शुरू हो चुका है।

ऑनलाइन खेलने के लिए आपके सामने बहुत सी वेबसाईट है, जिन पर आप सीधा जाकर सट्टे मटके का खेल या फिर सट्टा किंग खेल सकते है। अगर आप भी सट्टा किंग और सट्टा मटका के बारे में नहीं जानते है तो चलिए हम आपको इसके बारे में जानकारी प्रदान करते है।

सटा किंग क्या है

आख्रिकार ये सट्टा मटका या सट्टा किंग (सटा किंग ) क्या है ये सवाल सभी लोगों के मन में कभी न कभी जरुर आया होगा। मटका को हिंदी में सट्टा भी कहते है और आम लोगों की भाषा में कहा जाये तो इसे जुआ भी कहा जाता है। अंग्रेजी भाषा में इसे गैंबलिंग कहा जाता है। ये असल में यह एक प्रकार लॉटरी गेम होता है, जिसकी शुरुवात लगभग 1950 में भारत की आजादी के बाद ही हो गई थी।

बता दें कि इसे उस समय इसे आंकड़ा या जुगाड़ भी कहा जाता था। और इसमें समय के साथ साथ काफी बदलाव आये, लेकिन ये नाम मटका इसके साथ ही रह गया। सट्टा मटका का स्वर्णिम दौर था सन 1980 से लेकर सन 1990 तक जब सट्टा मटका एक बिजनेस के रूप में पूरी तरह बदल गया और अब यह खेल काफी ज्यादा लोकप्रिय भी बन गया है।

सट्टा मटका (सटा मटा मटका) एक खेल है और सट्टा किंग (सटा किंग) भी उसे ही कहा जाता है। जो लोग खेल को खेलने में माहिर होते है वह इस खेल से पैसे भी कमाते हैं। आजकल तो टेक्नोलॉजी के आ जाने से ज्यादतार लोग ऑनलाइन सट्टा खेलते है और ऑनलाइन सट्टा रिजल्ट (सटा किग रिजलट) भी देखते हैं, और पैसे जीतते है। सट्टा इंडियन का पसंदीदा खेल बन गया है।

सट्टा किंग के विभिन्न प्रकार | Typs of Satta King 

दोस्तों हम आपको बता दें कि सट्टा किंग (सटा किंग 786) के मुख्य रूप से चार खेल है जिन्हें हम सट्टा किंग बाजार के नाम से संबोधन करते हैं. भारत में एवं विश्व के अन्य देशों में सभी जगह पर इन चारों बाजार में ही सट्टा किंग दिसावर (सटा किंग दिसावर 2022) को खेला जाता है. सट्टा किंग का हर एक बाजार एक दूसरे से काफी अलग होते हैं क्योंकि इनको अलग-अलग समय पर अलग अगल तरीके से खेला जाता है.

इन सभी बाजारों का नाम भारत के विभिन्न जिला के नाम के ऊपर रखा हुआ है. आईये जानते हैं इन विभिन्न प्रकारों के बारे में :

1  सटा किग दिसावर 2022 –  दिसावर सट्टा किंग खेल को लोगों द्वारा हर रोज खेला जाता है एवं सटा किग दिसावर रिजल्ट हर सुबह आता है . दिसावर का केवल एक ही रिजल्ट निकलता है जिसे दिसावर मॉर्निंग सट्टा रिजल्ट भी कहा जाता  है. इस बाजार में हर रोज बहुत बड़े पैमाने पर हजारों लोग आकर सट्टा खेलते हैं एवं उनमें से मुख्य तौर पर कुछ राज्य उत्तर प्रदेश एवं पंजाब, हरियाणा इत्यादि  रहते हैं.

2 फरीदाबाद सटा किंग – फरीदाबाद सट्टा किंग भी फेमस सटा बाजारों में से एक बाजार है. हर रोज शाम को फरीदाबाद सट्टा का रिजल्ट आता है जिसमें लोग अपना चुना हुआ नंबर देख सकते हैं.

3 गली सट्टा किंग – सट्टा किंग का तीन नंबर बाजार गली सट्टा किंग एक बहुत ही फेमस का खेल है जो कि सट्टा किंग के बाजारों में से एक है. गली मटका हफ्ते के सातों दिन रात को खेला जाता है. गली मटका किंग को खेलना भी बाकी सारे सट्टा खेलों की तरह  ही है. गली मटका रिजल्ट आपको हर रोज उनकी वेबसाइट पर मिल जाएगा.

4 गाजियाबाद सट्टा किंग– सट्टा किंग बाजार का एक मुख्य बाजार गाजियाबाद सट्टा किंग है जिसे हफ्ते के 6 दिन रात के समय खेला जाता है. ओर फिर  उसका रिजल्ट निकाला जाता है. 

हालांकि हम आप से सट्टा खेलने के लिए ना ही प्रेरित करते हैं ना ही हमारा ऐसा कोई ओचित्य है. सट्टा एक जोखिम भरा गैर क़ानूनी खेल है. आप गूगल से फ्री में पैसे कैसे कमाए या ब्लॉग से पैसे कैसे कमाए इन सभी कानूनी तरीकों के बारे में जानकारी पाकर भी ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं.

ब्लैक सटा किंग क्या है?

ब्लैक सट्टा किंग भी सट्टा का एक नाम है. “सट्टा मटका” या जिसे की सटा किंग के नाम से भी जाना जाता है, यह खेल असल में एक पारंपरिक और ऐतिहासिक खेल है, जो की मूल रूप से पुरातन समय में भारत देश में विकसित किया गया था. और बाद में यह खेल धीरे धीरे विश्व प्रसिद्ध हो गया। इसलिए इसे इंडियन सट्टा मटका के नाम से भी संबोधित किया जाता है। सट्टा मटका 90 के दशक में व्यापक रूप से भारतीय लोगों के बीच बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय बन गया था और आज भी इस खेल के कईं दीवाने हैं।

देश के अधिक लोग इस खेल को उस समय खेला करते थे। केवल पुरुष ही नहीं बल्कि स्त्रियां , गृहणियां भी इस सट्टा मटका खेल पर दाँव लगाती थी। कईं लोग इसे भाग्य का खेल कहकर भी बुलाते थे क्योंकि कम समय में काफी लोग यह खेल खेलकर धनी बनते चले गए।

सट्टा मटका का इतिहास

क्या आपको भी सट्टा मटका का इतिहास के बारे में जानने में दिलचस्पी है ? तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें. सट्टा मटका की शुरुवात लगभग 1950 के समय से हो चुकी थी, उस समय ज्यादातर लोग रुई के ओपिनिग और क्लोजिंग कीमतों पर अपने पैसे या सट्टा लगाते थे। काफी लोग इस खेल से जीतते थे और वहीँ कुछ लोगों को हार का सामना भी करना पड़ता था।

बता दें कि उस समय, सट्टा मटका खेलने के लिए 0-9 तक के नंबर कागज के टुकड़ों पर लिखे जाते थे, फिर इन कागज के टुकड़ों को एक मटके में रख दिया जाता था। इसके बाद इन सभी टुकड़ों को उस मटके में घुमाया जाता था तब एक व्यक्ति मटका में से एक कागज़ का टुकड़े को उठाता था और जीतने वाली संख्या को पढ़ता था। 

समय बदलने के साथ सट्टा मटका लॉटरी खेलने का तरीका भी बदल गया। अब, ऑनलाइन या ऑफ़लाइन सटा खेला जाता है। आजकल टेक्नोलॉजी के युग में तो ऑनलाइन सट्टा मटका खेला जाता है।

सट्टा किंग (सटा किंग) 2022 

सट्टा किंग केवल एक शब्द या नाम है, जिससे उस व्यक्ति को संबोधित किया जाता है जो की सट्टा मटका को अच्छे ढंग से खेलना जानता हो और साथ में वो लगभग हर बार इस खेल को जीतता भी हो। असल में गेम तो सट्टा मटका ही है लेकिन इसे जितने वाले को सट्टा किंग कह दिया जाता है।

कल्याणजी भगत ने ही सबसे पहले इस सट्टा मटका खेल के बारे में बताया था। उन्होंने इस भाग्य के खेल को मुंबई में सबसे परिचित करवाया था। दुसरे मटका किंग के द्वारा सट्टा मटका के नियम को काफ़ी बदल दिया गया है।

भारत के प्रसिद्ध 3 सट्टा मटका किंग

भारत में सट्टा मटका के मुख्य तिन मटका किंग हैं जोकि आज तक काफी ज्यादा पॉपुलर हुए हैं।

  1. कल्याणजी भगत
  2. रतन खत्री
  3. सुरेश भगत

ये तीनों ही नाम मटका खेल की दुनिया में काफी ज्यादा लोकप्रिय और जाने पहचाने बन गये है। अभी के समय में सट्टा मटका 2022 का रूप काफी ज्यादा बदल चूका है। आप आज के समय में सभी सट्टा मटका खेल को ऑनलाइन सट्टा मटका वेबसाइट में आसानी से देख सकते हैं।

ऐसे लोग जिन्होंने की मटका गैंबलिंग के खेल से काफ़ी ज्यादा पैसे कमाये हैं उन्हें “मटका किंग” के नाम से संबोधित किया जाता है। वहीँ अभी तक मटका किंग्स की उपाधि केवल तिन लोगों को ही मिली हुई है जिनमें शामिल हैं,जो कल्याणजी भगत ,सुरेश भगत , रतन खत्री हैं।

सट्टा मटका से जुड़े कुछ शब्द

मटका

ये शब्द हिंदी भाषा के शब्द  ‘मटका से ही आया है  जिसका अर्थ है ‘मिटटी के घड़ा’. क्योंकि पुराने समय में इन खेलों को खेलने के लिए इन घड़ों का ही उपयोग किया जाता था इसके अंदर ही नंबर डाले जाते थे।

सिंगल

इस खेल में कोई भी (संख्या) जो की 0 से 9 के बीच का हो, उन्हे सिंगल संख्या कहा जाता है।

जोड़ी pair

संख्याओं का कोई भी Pair हो जैसे 00 से 99 के बीच की संख्या इन्हें जोड़ा कहा जाता है। जिसमे 2 संख्या हो।

पट्टी

यह एक तीन संख्या बहुत जरूरी संख्या होती है जो की बेटिंग रिजल्ट के अंत में आती है। सभी three-digit संख्याओं को पट्टी या पन्ना कहा जाता है।

ओपन रिजल्ट और क्लोज रिजल्ट

बेटिंग के परिणाम को दो हिस्सों में बाँट दिया जाता है – पहला हिस्से को ओपन कहते हैं  और दुसरे हिस्से को क्लोज कहते हैं।

निष्कर्ष

हम आपसे यही कहना चाहेंगे की सटा किंग क्या है आप यह तो जान गये हैं लेकिन हम आपसे यही अनुरोध करेंगे की आप इस खेल को न खेले और ना ही दूसरों को यह खेल खेलने की प्रेरणा दे. यह एक गैर कानूनी गेम है जिसे खेलना एक अपराध है.

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *